नल्लाथम्बी कलाइसेल्वी बनीं CSIR की पहली महिला महानिदेशक

नल्लाथम्बी कलाइसेल्वी बनीं CSIR की पहली महिला महानिदेशक

नल्लाथम्बी कलाइसेल्वी: वरिष्ठ वैज्ञानिक नल्लाथम्बी कलाइसेल्वी वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) की पहली महिला महानिदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है। 

मुख्य बिंदु:

  • उन्हें दो साल के लिए नियुक्त किया गया है।
  • नल्लाथम्बी कलाइसेल्वी शेखर मंडे की जगह लेंगी, जो अप्रैल 2022 में सेवानिवृत्त हुए थे।
  • मांडे के सेवानिवृत्त होने के बाद जैवप्रौद्योगिकी विभाग के सचिव राजेश गोखले को सीएसआईआर का अतिरिक्त प्रभार दिया गया था।

नल्लाथम्बी कलाइसेल्वी के बारे में:

  • कलाइसेल्वी लिथियम-आयन बैटरी में अपने काम के लिए प्रसिद्ध हैं।
  • वह वर्तमान में तमिलनाडु में सीएसआईआर-केंद्रीय विद्युत रासायनिक अनुसंधान संस्थान के निदेशक का पद संभाल रही हैं।
  • सीएसआईआर के महानिदेशक के अलावा, वह वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान विभाग के सचिव के रूप में भी कार्यभार संभालेंगी।
  • फरवरी 2019 में, वह केंद्रीय विद्युत रासायनिक अनुसंधान संस्थान (CSIR-CECRI) की अध्यक्षता करने वाली पहली महिला वैज्ञानिक बनीं थी।
  • वह वर्तमान में व्यावहारिक रूप से व्यवहार्य सोडियम-आयन या लिथियम-सल्फर बैटरी और सुपरकैपेसिटर विकसित कर रही है।
  • अब तक, उन्होंने 125 से अधिक शोध पत्र प्रकाशित किए हैं और उनके पास 6 पेटेंट हैं।

वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद :

  • सीएसआईआर को सितंबर 1942 में एक स्वायत्त निकाय के रूप में स्थापित किया गया था। 
  • तब से, यह देश में सबसे बड़े अनुसंधान और विकास संगठन के रूप में उभरा है। 
  • यह विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा वित्त पोषित है। 
  • इसे सोसायटी पंजीकरण अधिनियम, 1860 के तहत पंजीकृत किया गया है।
  •  सीएसआईआर की अनुसंधान और विकास गतिविधियां हैं- महासागर विज्ञान, एयरोस्पेस इंजीनियरिंग, जीवन विज्ञान, खनन, खाद्य, पेट्रोलियम, पर्यावरण विज्ञान और रसायन।